शुक्रवार, 9 जुलाई 2010

मि्लिए माली गाँव के ब्लागर से----चिट्ठाकार चर्चा-----ललित शर्मा

आज बैठे ठाले ब्लाग नगरिया का भ्रमण कर रहे थे कि एक चिट्ठा सामने आया जिस नाम मालीगांव था इसके चिट्ठाकार सुरेन्द्र सिंग भांभु  हैं, आप माली गांव जि्ला झुंझनु राजस्थान में रहते हैं और वहीं से ब्लागिंग कर रहे हैं। देख कर खुशी होती है कि आज ब्लागिंग गांव से शुरु हो गयी है। मैं गांव से ब्लागिंग करता हूँ तथा अकेला ब्लागर हूं इस गांव का, जिसको ब्लागिंग करते हुए एक वर्ष से ज्यादा हो गए। ब्लाग और नेट से पु्रे संसार से जुड़ने का एक अलग रोमांच है। घर बैठे पूरी दुनिया के सम्पर्क में रहते हैं, लेकिन एक नकारात्मक पक्ष भी है कि हम अपने गांव से दूर हो जाते हैं। गाँव वाले ही पूछते हैं कि कहां चले गए थे आप, बहुत दिन में दिख रहे हैं। कुछ ऐसा ही होता है। बहुत भयंकर नशा है ब्लागिंग, अब यह गांव की ओर चल पड़ी है। सुरेन्द्र सिंग के प्रोफ़ाईल पर चलते हैं--

सुरेन्द्र सिंह भम्बू 

मेरे बारे में

I am B.A., B.Ed With Computer,I am a finance minister of Saaya ORG. My Hight 6Fit3" My Address :- Surendra Singh Bhamboo S/o Lat. Sh Jivan Singh Bhamboo VPO- Maligaon Dist jhunjhunu Pin 333023 Mob No. 9829277798, 9887994845,9929997930,9785244568,9509159450,9024647151 Home 01592 344648

रुचि

पसंदीदा मूवी्स

पसंदीदा संगीत

पसंदीदा पुस्तकें

मेरे ब्‍लॉग

टीम सदस्य

मालीगांव
Saaya


इनकी पहली पोस्ट

Sunday, July 19, 2009


मेरे गाँव का परिचय


मेरे गाँव का नाम मालीगांव है, जो झुंझुनू जिले से १८ (अठारह )किलोमीटर उतर पूर्व में स्थित है जो बगड़ नगर से ५ (पॉँच ) किलोमीटर उतर दिशा में स्थित है इसकी तहसील और पंचायत समिति चिडावा है
मेरे गाँव में ३०० घर है, जिसमें ( हिंदू ,मुस्लमान ) दोनों धर्म के लोग रहते है , हिन्दुओ में (जाट,हरिजन धानक गुवारिया ,नाइ ) आदि जात के लोग रहतें हैं जाट लोगो का गोत्र भाम्बू हैं मेरे गाँव की जनसँख्या लगभग २००० हैं और लिंगानुपात १००० पर ९२० हैं गाँव के ८० प्रतिशत लोगों का व्यवसाय खेती हैं , बाकि के १० प्रतिशत लोग नोकरी करते हैं , तथा अन्य १० प्रतिशत लोग अपना अलग अलग व्यवसाय करतें हैं ।
ganv ki लगभग औरतें घर का कार्य करतीं हैं कुछ नोकरी भी करतीं हैं । गाँव में ३ मन्दिर गोगा जी के हैं १ गाँव के बीच में हैं , और २ गाँव के दोनों तरफ हैं जहा पर सांप के काटने पर भगतो द्वारा गोगा जी के कृपा से इलाज किया जाता हैं २ मन्दिर बालाजी के हैं जहाँ रोज सुबह शाम आरती होती हैं । गाँव में एक मस्जित है जहाँ पैर मुस्लमान नवाज अदा करते हैं । गाँव के ५ प्रतिशत लोग खेतो में रहते हैं । २ सरकारी विद्यालय हैं एक १० वी तक का तथा १ 5 वी तक की स्कूल हैं १ गेर सरकारी विद्यालय १० वी तक का हैं ।

इनकी अद्यतन पोस्ट


Thursday, July 8, 2010


इन दिनों रिज़ल्ट की साइट बन रही है औपरेटिंग सिस्टम और यूजर की जान का फंदा

Indiaresults.comखुली साइट और वाइरस की सूचन

 इन दिनों रिज़ल्ट की साइट बन रही है औपरेटिंग सिस्टम और यूजर की जान का फंदा

आजकल वैसे ही भरमार चल रही है रिज़ल्टस की एक आप बीती कहानी मेरी ज़बानी
जी हां सावधान! अगर आप के कम्प्यूटर में कोई अपडेटेड एन्टी वाइरस नहीं है तो आप
इंडिया रिज़ल्ट.कॉम की साइट न खोले क्योंकि इन दिनों इस साइट पर वाइरसो की भरमार है और खोले तो अपनी रिश्क पर। मैं तो इसका भुगत भोगी बन चुका हूं कम से कम आपको तो सुचित करके बचाना चाहता हूं। भाई नरेश सिंह जी ने अपने ब्लॉग पर इस साईट प्रशंसा बहुत की थी कि यह रिजेल्ट के लिए सबसे बढ़िया साइट है। परन्तु उन्हें भी क्या पता था कि यही साइट उनके लिए भी परेशानी पैदा कर सकती है। जी हां उनको भी इस साइट के वाईरसो की मार सहनी पड़ी और अपना औपरेटिंग सिस्टम दुबारा फारमेट करके लोड करना पड़ा वो भी दो बार बेचारे क्या करते  रिज़ल्ट देखने के लिए इस साइट को खोलना भी अनिवार्य हो जाता है।

वाइरस की सुचना देता एण्टी वाइरस
क्योंकि आजकल रिजेल्टस की भरमार चल रही है। और ज्यादा तर रिज़ल्ट इसी साइट पर पहले उपलब्ध हो पाते हैं जैसे बी.ए. पार्ट तृतीय का परिणाम यूनिवर्सिटी की साइट की बजाय इस पर पहले उपलब्ध हुआ और यूनिवर्सिटी की साइट पर एक दिन बाद । तो हम लोग करते भी क्या? बजाय इंडिया रिजेल्टस.कॉम खोलने के और उसको खोलते ही वाइरस जी ने चाट डाली हमारी विण्डोज की फाईलस और कम्प्यूटर बंद क्या करते काफी जुगाड़ी उपाय किये लेकिन नहीं चला अन्त में हार्ड डिस्क को फॉर्मेट करके ही विण्डो लोड करना पड़ा ओर सबसे पहले एण्टी वाइरस साफ्टवेयर लोड करके उसे अप डेट करना पड़ा तब जाकर कुछ राहत मिली लेकिन अब भी इस साइट से वाइरस हटे नहीं है अगर किसी दिन एन्टी वाइरस अप डेट नहीं हो पाया तो कर देंगें दुबारा हमला और जान को आफत।
             इसी प्रकार मैंने भी तीन बार फॉर्मेट विण्डोज लोड किया और नया एण्टी वाइरस अवास्ट का नया वर्जन लोड किया तब जाकर इस आफत से कुछ पिछा छुटा आज भी मैं इस साईट को डरते डरते खेलता हूं। क्योंकि यह साइट खोलते ही आती है वार्निग वाइरस पकड़े जाने की
        इस वाइरस की ख़ासियत है कि यह या तो विण्डोज की फाईल खा कर या मिटा कर विण्डोज को ही करेप्ट कर देगा या फिर हमारें डायल अप नेट कनेक्सन को प्रभावित कर देगा जिससे या तो नेट कनेक्ट ही नहीं होगा और कनेक्ट हो जाने के बाद अपने आप ही डिसकनेक्ट हो जायेगा। कभी कभी तो कम्प्यूटर हैंग ही हो जायेगा और कभी कभी नेट स्टेटस ही गायब कर देगा।
    तो दोस्तों सावधान या तो इस साइट को कम से कम काम में ले या फिर कोई अप डेट एण्टी वाइरस रखें जिसे रोजाना सबसे पहले अपडेट करें ताकि इस खतरे से बचा जा सके।

    अन्त में इंडिया रिज़ल्ट साइट के निर्माताओं से निवेदन है कि कृपया करके इस साईट को वाइरस मुक्त करें। कयोंकि यह साइट रिज़ल्ट के लिए आम जन की पसंद बन चुकी है। लेकिन अब ये फंदा बनी हुई

फ़िर मिलते हैं किसी नए ब्लाग के साथ-- तब तक ललित शर्मा का राम-राम

15 टिप्पणियाँ:

arvind ने कहा…

maaligaaon ke blogger bhambu ji se milakar bahut acchha laga.

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

अच्छा लगा जी भामू जी से मिलकर ! पहले भी हम दो चार बार जा चुके है उनके पर !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

सुरेन्द्र सिंग भांभु से मिल कर अच्छा लगा!

Murari Pareek ने कहा…

चलो एक भाई और मिल्यो राजस्थान गो!!

Surendra Singh Bhamboo ने कहा…

श्रीमान ललीत जी अपने मेरे चिट्ठे को चुना चर्चा के लिए इसके लिए आपको बहुत बहुत धन्यवाद

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

Maligaon ke blogger Surendra ji se milwane ka Shukriya. virus ki samasya se to hum bhee jooz rahe hain. yadi mere patideo ka sahara na hota to isase ubarne ka koi upay nahee tha.

गिरीश बिल्लोरे ने कहा…

मिल कर हर्षित हूं

मनोज कुमार ने कहा…

बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं!

और समय ठहर गया!, ज्ञान चंद्र ‘मर्मज्ञ’, द्वारा “मनोज” पर, पढिए!

Mrs. Asha Joglekar ने कहा…

अच्छा लगा माली गांव के ब्लॉगर भामू जी से मिल कर अपने गांव की तो पूरा सांख्यिकीय सारणी दे दी इन्होने ।
वाइरस की जानकारी दी वह तो और भी बढिया । कई बार स्कूली बच्चे हमारे पास आकर भी अनुरोध करते हैं कि हमारा रिजल्ट निकलवा दो । तो एन्टिवाइरस से लैस होकर ही करना है ये ।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

सुरेन्‍द्र भाई काफी सम्‍भावनाशील ब्‍लॉगर है। इनके मिलवाने का शुक्रिया।

---------
मिलिए तंत्र मंत्र वाले गुरूजी से।
भेदभाव करते हैं वे ही जिनकी पूजा कम है।

जितेन्द्र ‘जौहर’ Jitendra Jauhar ने कहा…

वाह...आपने खोज लिया भांभु जी को!
गाँव में ब्लॉगिंग देर-सबेर लोकप्रिय हो ही जाएगी।

Meenu Khare ने कहा…

इस तरह का भी कोई ब्लॉग है यह आज पता चला.बहुत अच्छा काम है आपका.बधाई.

zakir ने कहा…

बहुत अच्छा लगा लगा गाँव के ब्लॉगर से मिलकर ...हमारे देश को ऐसे ही होनहार युवकों की आवशयकता है

amrendra "amar" ने कहा…

accha laga milker.........

Richa P Madhwani ने कहा…

http://shayaridays.blogspot.com